मोर पंख की दैवीय शक्तियां जानकर चौंक जाएंगे आप?

भगवान श्रीकृष्ण के मस्तक पर सजने वाला मोर पंख लक्ष्मी को भी प्रिय है। भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय का तो वाहन ही मोर है। प्राचीन ऋषि-मुनि मोर पंख की कलम से साहित्य की रचना करते थे। मोर पंख से बना पंखा या झाडू कई मंदिरों में देखी जा सकती है। दरअसल मोर पंख में एक विशेष प्रकार का विद्युत चुंबकीय गुण होता है, जो नकारात्मक उर्जा को दूर रखकर सकारात्मक उर्जा का प्रवाह करता है।

Image result for peacock wings images
इसलिए कई इलाकों में आज भी बच्चों या बड़ों की नजर उतारने के लिए मोर पंख से बनी झाडू को सिर के आसपास क्लॉक वाइज, एंटी क्लॉक वाइज घुमाया जाता है। ग्रामीण भाषा में नजर उतारने की इस प्रक्रिया को झाड़ फूंक जरूर कहा जाता है, लेकिन यह अपने चुंबकीय गुण के कारण संबंधित व्यक्ति की नकारात्मक उर्जा को दूर करने का काम करता है।

मोर पंख वास्तु दोष दूर करने के साथ ही ग्रहों के दुष्प्रभाव भी कम करता है। घर में मोर पंख होना शुभ माना जाता है। कई लोगों के घरों के पूजा स्थान में मोर पंख रखा मिल जाएगा और जिन घरों में कृष्ण की पूजा होती है वहां तो मोर पंख मिल ही जाएगा।

आइये जानते हैं मोर पंख के क्या-क्या फायदे हैं...


मोर पंख चमत्कारिक असर दिखाता है
घर, दुकान या व्यापारिक प्रतिष्ठान का वास्तु दोष दूर करने में मोर पंख चमत्कारिक असर दिखाता है। यदि वास्तु दोष है और तोड़फोड़ करके उसे ठीक करना संभव नहीं है तो मोर पंख दोष दूर कर सकता है। आपको बस इतना करना है कि घर या दुकान के मुख्य द्वार पर तीन मोर पंख लगा दीजिए। ध्यान रखे द्वार पर यह ऐसी जगह लगाया जाए, जिसके नीचे से परिवार के सदस्य होकर गुजरे। इससे वास्तु दोष दूर होगा और संपत्ति में वृद्धि होने लगेगी।

सात मोर पंख लगाएं यदि किसी परिवार में पति-पत्नी के बीच बिलकुल न बनती हो। बात-बात पर झगड़ा होता हो। मनमुटाव बना रहता हो तो बेडरूम में उत्तरी दीवार पर सात मोर पंख लगाएं। इसे बेडरूम में ऐसी जगह भी लगाया जा सकता है जहां इस पर सफेद बल्ब की रोशनी पड़ती हो। इससे पति-पत्नी में प्रेम बढ़ेगा और उनका वैवाहिक जीवन खुशहाल होगा।

कालसर्प दोष दूर करने की भी शक्ति...
मोर पंख कालसर्प दोष दूर करने की भी शक्ति रखता है। जिस व्यक्ति को कालसर्प दोष है वह सात मोर पंख सोमवार के दिन अपने तकिए की खोल में रख दे। प्रतिदिन उसी तकिए पर सोए। कालसर्प दोष शांत होगा और जीवन में तरक्की के रास्ते खुलेंगे।

मोर पंख लक्ष्मी का प्रतीक अगर छोटा बच्चा जिद्दी है तो उसे प्रतिदिन मोर पंख से हवा देने पर उसकी जिद शांत होगी। बार-बार बच्चे को नजर लग जाती है तो भी यह प्रयोग करें, बच्चा बुरी नजर से बचा रहेगा। मोर पंख को लक्ष्मी का प्रतीक भी माना गया है। अपने घर के पूजा स्थान में लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा के पास एक मोर पंख रखें। प्रतिदिन पूजा के समय मोर पंख का स्पर्श कर देवी लक्ष्मी का ध्यान करें। जल्द ही धन-संपत्ति आगमन का मार्ग खुलने लगेगा।

नवग्रहों की शांति के लिए मोर पंख का प्रयोग
नवग्रहों की शांति के लिए मोर पंख का प्रयोग किया जाता है। घर के उत्तर या उत्तर-पूर्वी कोने में मोर पंख होने से नवग्रह की पीड़ा कम होती है।मोर पंख घर में होने से जहरीले जानवर, सर्प, छिपकली, गिरगिट, जहरीले कीड़े आदि नहीं आते।

__________________________________________________________________-
Share To:

Abhishek bhatnagar

Hi i am abhishek bhatnagar form moradabad , working as freelancer for various project and also having great intrest in astrology ... Send your queries

check my website
www.abhishekbhatnagar.in

Post A Comment: