सुन्दरकाण्ड के विषय में कुछ रोचक जानकारी 
सुन्दरकाण्ड का नित्यप्रति पाठ करना हर प्रकार से लाभ दायक
होता है, इसकेअनंत लाभ है, इस पाठ को हनुमान
जी के सामने चमेली के तेल
का दीपक लगा करकरने से अधिक फल प्राप्त होता है,
सुन्दरकाण्ड एक ऐसा पाठ है जो की हरप्रकार
की बाधा और परेशानियों को खतम कर देने में
पूर्णतः समर्थ है. आजकलके व्यस्तता भरे दिनचर्या में बहुत
अधिक समय तक पूजा कर पाना हमेशा संभवनहीं होता,
ऐसे में इस पाठ को आप पूरा पढ़ सके तो बहुत अच्छा है पर
नहीं पढ़सकते या समय का आभाव है तो ऐसा करे के
इसमें कुल ६० दोहे है, हर दिन १०दोहों का आप पाठ कर ले, ये
आप मंगलवार से शुरू कर सकते है जो की रविवार
तकखतम हो जायेगा, ऐसे आप बार बार कर सकते है पर इस
चीज़ का विशेष ख्याल रखनाबहुत जरुरी है

के आप जब तक पाठ करे न तो मांस मदिरा का सेवन करे न
ही अपनेघर में मांस मदिरा लाये जब तक पाठ
हो आपको ब्रह्मचर्य और सदाचार अपनानाहोगा अन्यथा दोष के
भागी बनेंगे..
आइये जाने ज्योतिष के अनुसार सुन्दरकाण्ड का पाठ किसके लिए विशेष
फलदाई मन जाता है-
ज्योतिष के अनुसार भी सुन्दरकाण्ड एक अचूक उपाय है
ज्योतिषो के द्वाराउपाय के तौर पर अक्सर बताया जाता है, उन लोगो के
लिए ये विशेष फलदाई होताहै जिनकी जन्म
कुंडली में – मंगल नीच का है, पाप
ग्रहों से पीड़ित है, पापग्रहों से युक्त है
या उनकी दृष्टि से दूषित हो रहा है, मंगल में अगर
बलबहुत कम हो, अगर जातक के शरीर में रक्त विकार
हो, अगर आत्मविश्वास की बहुतकमी हो,
अगर मंगल बहुत ही क्रूर हो तो भी ये
पाठ आपको निश्चित रहत देगा.अगर लगन में राहू स्थित हो, लगन
पर राहू या केतु की दृष्टि हो, लगन शनि यामंगल के
दुष्प्रभावो से पीड़ित हो, मंगल अगर
वक्री हो या गोचर में मंगल केभ्रमण से अगर कोई कष्ट
आ रहे हो, शनि की सादे साती या ढैय्या से
आप परेशानहो, इत्यादि….. इन सभी योगो में सुन्दरकाण्ड
का पाठ अचूक फल दायक मानाजाता है…
सुन्दरकाण्ड के पाठ से बहुत सारे लाभ होते है उनमे से कुछ हम
यहाँ बता रहे है - पोस्ट अनिल कुमार वर्मा 
१) इसका पाठ करने से विद्यार्थियों को विशेष लाभ मिलता है, ये
आत्मविश्वासमें बढोतरी करता है और
परीक्षा में अच्छे अंक लाने में मददगार होता है,
बुद्धि कुशाग्र होती है, अगर बहुत छोटे बच्चे है
तो उनके माता या पिता उनकेलिए इसका पाठ करे.
२) इसका पाठ मन को शांति और सुकून देता है मानसिक परेशानियों और
व्याधियो से ये छुटकारा दिलवाने में कारगर है,
३) जिन लोगो को गृह कलेश की समस्या है इस पाठ से
उनको विशेष फल मिलते है,
४) अगर घर का मुखिया इसका पाठ घर में रोज करता है तो घर
का वातावरण अच्छा रहता है,
५) घर में या अपने आप में कोई भी नकारात्मक
शक्ति को दूर करने का ये अचूक उपाय है,
६) अगर आप सुनसान जगह पर रहते है और
किसी अनहोनी का डर
लगा रहता हो तो उसस्थान या घर पर इसका रोज पाठ करने से हर
प्रकार की बाधा से मुक्ति मिलती हैऔर
आत्मबल बढ़ता है.
७) जिनको बुरे सपने आते हो रात को अनावश्यक डर लगता हो इसके
पाठ निश्चित से आराम मिलेगा.
८) जो लोग क़र्ज़ से परेशान है उनको ये पाठ
शांति भी देता है और क़र्ज़ मुक्ति में सहायक
भी होता है,
९) जिस घर में बच्चे माँ पिता जी के संस्कार को भूल चुके
हो, गलत संगत मेंलग गए हो और माँ पिता जी का अनादर
करते हो वहा भी ये पाठ निश्चित
लाभकारीहोता है.
१०) किसी भी प्रकार का मानसिक
या शारीरिक रोग भले क्यों न हो इसका पाठ
लाभकारी होता है.
११) भूत प्रेत की व्याधि भी इस पाठ
को करने से स्वतः ही दूर हो जाती है.
१२) नौकरी में प्रमोशन में भी ये पाठ विशेष
फलदाई होता है.
१३) घर का कोई भी सदस्य घर से बाहर
हो आपको उसकी कोई जानकारी मिल
पा रहीहो या न भी मिल
पा रही हो तो भी आप अगर इसका पाठ
करते है तो सम्बंधितव्यक्ति की निश्चित
ही रक्षा होगी, और आपको चिंता से
भी राहत मिलेगी.
और इसके अलावा ऐसे बहुत से लाभ है जो सुन्दरकाण्ड से मिलते
है आप सभी इसपाठ का लाभ उठाये और अपने
जीवन में सकारात्मक बदलाव महसूस करे,
जीवन सार्थकबनाये इस पाठ के मदद से हर दिन को नए
उत्साह से जिए और परेशानियों से निजात पाये *
________
__________________________________________________________- __________

Get Your Free News Letter


Share To:

Abhishek bhatnagar

Hi i am abhishek bhatnagar form moradabad , working as freelancer for various project and also having great intrest in astrology ... Send your queries

check my website
www.abhishekbhatnagar.in

Post A Comment: